लालू करवाएगें ‘बुआ—भतीजे’ के बीच ‘सियासी मधुर मिलन’

49
akhilesh-and-mayawati-
nationaldunia.com

नेशनल दुनिया, पटना।

उत्तर प्रदेश में पहले लोकसभा चुनाव में बसपा और सपा का जिस तरह से पत्ता साफ हुआ, उसके बारे में तो उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा होगा। उसके बाद जब विधानसभा चुनावों में उल्टे मुह गिरे तो दोनों ही दलों को यह तो समझ में आ गई कि बात बिगड़ चुकी है। इसलिए अब दोनों एक साथ आने की तैयारी में जुटे हैं।

लेटेस्ट खबरों के लिए हमें फेसबुकट्वीटर पर फोलो करें और हमारा यू-ट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें।

सुनने में आ रहा है कि बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोलने का ऐलान करने वाले लालू प्रसाद यादव इसमे मैन रोल निभाने जा रहे हैं। इसके लिए पटना में 27 अगस्त को होने वाली महारैली में देशभर के विपक्षी दलों के नेता एक मंच पर जुटेंगे। जहां खबर है कि इस रैली में उत्तर प्रदेश के 2 पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और मायावती एक साथ इस मंच पर आने की संभावनाओं से सियासी दलों में हलचल बढ़ रही हैं।

इसे लेकर लोगों से तरह-तरह की बाते सुनने को मिल ही रही हैं, वहीं सियासी गलियारों में भी यह बात गूंज रही है कि क्या माया और अखिलेश एक मंच पर साथ आ जाएंगे? अब देखना यह है कि अखिलेश और उसकी कथित बुआ का मिलन लालू कहां तक करवा पाते हैं?

यह भी पढ़े— जल्द ही दौड़ेगी मुंबई-अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन, सितंबर से प्रोजेक्ट शुरु

हालांकि लालू के नेतृत्व में आयोजित महारैली में पटना आने के लिए जहां बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने हामी भर दी है, वहीं समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव भी इस रैली में पटना आने की बात की लगभग पु​ष्टि कर दी हैं।

इन सब को देखते हुए यह तो तय हो गया है कि विधानसभा चुनाव में औंधे गिरने के बाद लालू अब नए सिरे से जंग लड़ने की तैयारी में जुट गए हैं। सूत्रों के हवाले से खबर है कि यूपी विधानसभा चुनाव में केवल 19 सीट जीतने वाली मायावती को अगले साल राज्यसभा की सदस्यता लालू यादव बिहार से दिलवाना चाहते हैं।

यह भी पढ़े— AMJSWA ने कहा: कोई पत्रकार क्यूं सच लिखने की हिम्मत करेगा, पत्रकार की गोली मारकर हत्या

वहीं, सत्ता से हाथ धो बैठे अखिलेश और मायावती को अगर एक मंच पर लाने में सफल रहें तो यह लालू की सबसे बड़ी जीत साबित होगी। जिसके बाद नेताओं द्वारा लालू की इस रैली को नया नाम ‘भाजपा भगाओ देश बचाओ’ मिल जायेगा। जिसमें सोनिया गांधी से लेकर विपक्षी दलों के नेता शामिल होने की खबर हैं।

Facebook Comments