राष्ट्रपति ने की राज्य में कृषि क्षेत्र में हो रहे नवाचारों की प्रशंसा

21
nationaldunia
nationaldunia

मुख्यमंत्री और कृषि मंत्री ने राष्ट्रपति को भेंट किया था कृषि उत्पादों पर आधारित गिफ्ट पैक

जयपुर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्य में कृषि क्षेत्र में हो रहे नवाचारों की प्रशंसा की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जैतून, खजूर, डै्रगन फ्रूट जैसे गैर परम्परागत फसलों का राज्य में सफलता पूर्वक उत्पादन, नवाचारों की सफलता को बयां कर रहा है। उन्होंने कहा कि ये प्रयास किसानों की आमदनी को दोगुना करने में मददगार सिद्ध होंगे।

कोविंद ने बताया कि जब इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू भारत आए थे, तो उन्होंने नेतन्याहू को राजस्थान में उत्पादित ऑलिव टी पिलाई थी। इजरायली प्रधानमंत्री ने इस चाय प्रशंसा की और इसको बनाने की तकनीक के बारे में जानकारी ली थी। उन्होंने इंडो-इजरायल प्रोजेक्ट के तहत राज्य में कृषि क्षेत्र में किए जा रहे नवाचारों को सराहा।

कोविंद की राजस्थान यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे और कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने उन्हें राजस्थान में उत्पादित कृषि उत्पादों का गिफ्ट पैक भेंट किया। कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने बताया कि इस गिफ्ट पैक में जैतून, खजूर, किनवा, जैम और अन्य उत्पाद शामिल थे। सैनी ने बताया कि राज्य के लिए गर्व की बात है कि मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में अन्तरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर हो रहे नवाचारों को पहचान मिल रही है।

सैनी ने बताया कि राजस्थान ऑलिव कल्टीवेशन लिमिटेड द्वारा राज्य में जैतून का उत्पादन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य में जैतून और खजूर की खेती की शुरूआत इस सरकार के गत कार्यकाल में हुई, जब मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में कृषि विशेषज्ञों का एक दल इजरायल गया था। वहां से लौटने के बाद मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रदेश में जैतून और खजूर की खेती करने का निर्णय लिया। 20 मार्च, 2008 को बस्सी के ढिंढोल फार्म पर जैतून के प्रथम पौधे का रोपण किया गया। राज्य के 7 कृषि जलवायु खंडों में इसका प्रायोगिक रोपण किया गया। यह प्रयोग सफल हुआ और राज्य में जैतून लहलहाने लगा। राज्य में जैतून अरबेक्विना, बरनियर, फ्रंटोयो, कोर्टिना, कोलोनाइकी, पासोलिन, पिकुअल किस्मों का पौधारोपण किया गया था।

राजस्थान द्वारा नेपाल सहित देश के 11 राज्यों को जैतून पौधों की आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने बताया कि बीकानेर जिले के लूणकरणसर में इस सरकार के कार्यकाल में जैतून की पहली रिफायनरी स्थापित की गई। राज्य सरकार द्वारा राज ऑलिव के नाम से जैतून के तेल का विपणन भी किया जा रहा है।

राजस्थान को मिला जैतून की प्रस्संकृत चाय बनाने का गौरव

राज्य सरकार ने जैतून उत्पादक किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए इसकी पत्तियों के विपणन और प्रसंस्करण के लिए सरकार द्वारा जैतूून की चाय बनाने के लिए ओलिटिया फूड्स कंपनी ने सरकार के साथ एमओयू किया है। कंपनी ने जयपुर जिले के बस्सी में जैतून पत्तियों की चाय का संयत्र स्थापित कर विश्व की पहली प्रसंस्कृत चाय का उत्पादन शुरू किया। इसके साथ ही राज्य में खजूर और किनवा जैसी गैर परम्परागत फसलों का सफलतापूर्वक उत्पादन लिया जा रहा है।

Facebook Comments